बिहार चुनाव : इन उम्मीदवारों ने सुर्खियाँ तो खूब बटोरी, लेकिन मिली करारी शिकस्त - Nai Ummid
3033-px-757.jpg

बिहार चुनाव : इन उम्मीदवारों ने सुर्खियाँ तो खूब बटोरी, लेकिन मिली करारी शिकस्त


बिहार चुनाव परिणाम अंत तक काफी रोमांच रहा लेकिन अंततः एनडीए ने बहुमत हासिल कर लिया। और महागठबंधन के सपनों पर पानी फेर दिया। 243 सीटों की मतगणना में एनडीए को 125 सीटें मिली है, जबकि महागठबंधन को 110 सीटे ही हाथ लगी है।

इस चुनाव में कई ऐसे चेहरे हार गए, जो सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरी। इसमें से प्लूरल्स पार्टी की पुष्पम प्रिया चौधरी ने ईवीएम हैक होने तक का आरोप लगा दिया। आईए जानते हैं कि वो कौन-कौन से चेहरे हैं जो बेहद ही चर्चा में रहे लेकिन चुनाव नहीं जीत पाए।

1. पुष्पम प्रिया चौधरी -  प्लूरल्स पार्टी की संस्थापक पुष्पम प्रिया चौधरी खुद को मुख्यमंत्री का चेहरा बता रहीं थीं।

वो दो सीटों पर चुनाव लड़ीं थीं लेकिन उनको दोनों सीटों पर हार का सामना करना पड़ा। पुष्पम प्रिया उस समय बेहद ही चर्चा में आईं थी जब उन्होंने खुद को मुख्यमंत्री का उम्मीदवार बताकर अखबारों में विज्ञापन दिया था।


2. लव सिन्हा - कांग्रेस नेता और बॉलीवुड एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा को बांकीपुर सीट पर चुनाव लड़े थे लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा। बांकीपुर सीट से बीजेपी के नितिन नवीन चुनाव जीत गए। इस चुनाव में नितिन नवीन को 83068 वोट मिले, जबकि कांग्रेस उम्मीदवार लव सिन्हा को 44032 वोट मिले।


3. पप्पू यादव - जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री का चेहरा राजेश रंजन यादव उर्फ पप्पू यादव को भी हार का सामना करना पड़ा। मधेपुरा सीट से चुनाव लड़े पप्पू यादव को 26,462 वोट मिले। वो तीसरे नंबर पर रहे, जबकि इस सीट पर आरजेडी के चंद्रशेखर ने जीत दर्ज किया।


4. लवली आनंद - आरजेडी की स्टार प्रचारक और बाहुबली आनंद मोहन सिंह की पत्नी लवली आनंद भी चुनाव हार गई हैं। सहरसा सीट से बीजेपी के आलोक रंजन को 1,03,538 वोट मिला, वहीं लवली आनंद के पक्ष में 83,859 वोट पड़े।


5. सुभाषिनी बुंदेला - शरद यादव की बेटी सुभाषिनी बुंदेला भी चुनाव हार गई हैं। ऐन चुनाव से पहले सुभाषिनी ने कांग्रेस ज्वॉइन किया था। इसके बाद कांग्रेस ने उन्हें बिहारीगंज सीट से टिकट दिया था।

Previous article
Next article

Leave Comments

टिप्पणी पोस्ट करें

Articles Ads

Articles Ads 1

Articles Ads 2

Advertisement Ads